Mera Pani Meri Virasat Yojana Apply | हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना रजिस्ट्रेशन | मेरा पानी मेरी विरासत योजना ऑनलाइन आवेदन | Haryana Mera Pani Meri Virasat Scheme Form
Mera Pani Meri Virasat Yojana :-  दोस्तों आज हम बात करेंगे Mera Pani Meri Virasat Yojana के बारे में | Mera Pani Meri Virasat Yojana की शुरुआत किसने की है | Mera Pani Meri Virasat scheme में क्या क्या लाभ मिलेगा | ये योजना किसान भाइयो के लिए बहुत ही मददगार साबित होगी |
इस योजना में किसान भाइयो को 7000 रुपया प्रति एकड़ दिया जायेगा | तो चलिए जानते है Mera Pani Meri Virasat Yojana Kya Hai. Mera Pani Meri Virasat Yojana ki puri jankari. आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस Haryana Mera Pani Meri Virasat Scheme से जुडी सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया , पात्रता , दस्तावेज़ आदि प्रदान करने जा रहे है |
Mera Pani Meri Virasat Yojana
Mera Pani Meri Virasat Yojana :- दोस्तों हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी Mera Pani Meri Virasat Yojana लॉन्च कर दी है| इस योजना के पहले चरण में राज्य के 19 ब्लॉक शामिल किए गए हैं जिनमें भू-जल की गहराई 40 मीटर से ज्यादा है। इस योजना में 40 मीटर से ज्यादा गहराई वाले 19 ब्लॉक रखे गए हैं, और उनमे से 11 ब्लॉक ऐसे हैं,  जिसमें धान की फसल नहीं होती है।
बाकि बच्चे 8 ब्लॉक रतिया, सीवान, गुहला, पीपली, शाहबाद, बबैन, ईस्माइलाबाद व सिरसा ऐसे हैं जहां भू-जल स्तर की गहराई 40 मीटर से ज्यादा है और धान की बिजाई होती है, ऐसे ही क्षेत्रों को इस योजना में शामिल किया गया है।
हरियाणा सरकार वर्तमान सीजन में धान की फसल के स्थान पर अन्य वैकल्पिक फसलों की बुआई करने वाले किसानों को 7 हजार रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि देगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के किसानों से अपील की है।
Mera Pani Meri Virasat Yojana
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश का कुछ हिस्सा डार्क जोन में है। जिसमे 36 ब्लॉक ऐसे हैं, जहां पिछले 12 सालो से भू-जल स्तर में गिरावट दोगुनी हुई है। हरियाणा सरकार वर्तमान सीजन में धान की फसल के स्थान पर अन्य वैकल्पिक फसलों की बुआई करने वाले किसानों को 7 हजार रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि देगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के किसानों से अपील की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश का कुछ हिस्सा डार्क जोन में है। जिसमे 36 ब्लॉक ऐसे हैं, जहां पिछले 12 सालो से भू-जल स्तर में गिरावट दोगुनी हुई है।
हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना का उद्देश्य
जैसे की हम सबको पता है की जमीन में पानी का स्तर दिनों दिन काम होता जा रहा है | पहले की मुकाबले बारिश अब बहुत काम हो रही है , जिसकी वजह से जमीन में पानी की कमी होती जा रही है | और धान की खेती में बहुत ज्यादा पानी की जरूरत होती है | इसलिए हरियाणा सरकार मेरा पानी मेरी विरासत योजना की शुरुवात की है, और धान की खेती करने वालो से कहा है की आप धान की जगह अन्य वैकल्पिक फसलों की बुआई करे और मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत 7 हजार रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन धनराशि सरकार से ले |
मेरा पानी मेरी विरासत योजना की विशेषताएं
 जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए मेरा पानी मेरी विरासत योजना को लांच किया है |
 किसानो को धान की खेती छोड़ने के कोई परेशानी न हो इसलिए राज्य सरकार उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है |
 डार्क जोन में शामिल क्षेत्रों में रहने वाले जो किसान धान की खेती छोड़ देंगे, उन्हें सरकार द्वारा 7000 रूपये प्रति एकड़ की प्रोत्साहन धनराशि देगी |
मेरा पानी मेरी विरासत योजना में पात्रता मापदंड 
 इस योजना का लाभ लेने वाला हरियाणा राज्य का ही निवासी होगा, क्योकि यह योजना सिर्फ हरियाणा में शुरू की गयी है |
 धान की खेती करने वाले किसान धान की खेती छोड़कर अन्य कोई खेती करते हैं तो ही वे इस योजना के लिए पात्र होंगे|
 राज्य के ऐसे ब्लॉक जहाँ पर भूजल स्तर काफी कम है वहा का किसान भी धान की  बुवाई के स्थान पर अन्य फसलों की बुवाई करते हैं, तो वे भी पहले से ही इसकी सूचना देकर प्रोत्साहित राशि प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकते हैं|
मेरा पानी मेरी विरासत योजना में आवश्यक दस्तावेज (Mera Pani Meri Virasat Yojana Required Documents)
 इस योजना के लाभार्थी किसानों के पास उनका हरियाणा का निवासी होने का प्रमाण होना आवश्यक है |
 इस योजना के लिए किसान के पास किसान कार्ड / किसान क्रेडिट कार्ड है तो बहुत अच्छी बात है| किसान कार्ड / किसान क्रेडिट कार्ड जरुरी नहीं है
 इस योजना के आवेदन करते समय पहचान के लिए बहुत आवश्यक है, कि लाभार्थी किसान अपना पहचान प्रमाण जैसे आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड  दिखाए|
Mera Pani Meri Virasat Scheme Haryana के लाभ
 इस योजना का लाभ हरियाणा के किसान भाई उठा सकते है |
 मक्का और दलहन की खेती में आवश्यक बुवाई आदि फार्म मशीनरी उपलब्ध कराने के लिए 80 फीसदी सब्सिडी भी दी जाएगी |
 इस योजना के तहत मक्का, अरहर, मूंग, उड़द, तिल, कपास और सब्जी की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जाएगी।
 इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा प्रत्साहन धनराशि प्राप्त करने के लिए किसानो को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा |
मेरा पानी मेरी विरासत योजना में आवेदन कैसे करे?
अगर आप भी Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana का लाभ लेना चाहते है तो आप भी धान की फसल छोड़ कर अन्य वैकल्पिक फसलों की बुआई कर सकते है और सरकार से 7000 रुपया प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि ले सकते है | आपको बस कुछ दिन इंतज़ार करना होगा, बहुत जल्दी Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana Online Registration शुरू हो जाएंगे |
Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana Online registration शुरू होते ही आपको इस पोस्ट में बता दिया जायेगा | आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी जरूर बताये | अगर आपको कुछ पूछना है तो आप निचे कमेंट करके पूछ सकते है|

Post a Comment

Previous Post Next Post