सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

नागचंद्रेश्वर महादेव | नागचन्द्रेश्वर मंदिर उज्जैन | नागचंद्रेश्वर की कथा | Nagchandreshwar darshan |

 





उज्जैन का नागचंद्रेश्वर मंदिर : क्यों खुलता है सिर्फ साल में एक दिन


"हिंदू धर्म में सदियों से नागों की पूजा करने की परंपरा रही है। हिंदू परंपरा में नागों को भगवान का आभूषण भी माना गया है। भारत में नागों के अनेक मंदिर हैं, इन्हीं में से एक मंदिर है उज्जैन स्थित नागचंद्रेश्वर का,जो की उज्जैन के प्रसिद्ध महाकाल मंदिर की तीसरी मंजिल पर स्थित है।"

इसकी खास बात यह है कि यह मंदिर साल में सिर्फ एक दिन नागपंचमी (श्रावण शुक्ल पंचमी) पर ही दर्शनों के लिए खोला जाता है। ऐसी मान्यता है कि नागराज तक्षक स्वयं मंदिर में रहते हैं।



नागचंद्रेश्वर मंदिर

"नागचंद्रेश्वर मंदिर में 11वीं शताब्दी की एक अद्भुत प्रतिमा है, इसमें फन फैलाए नाग के आसन पर शिव-पार्वती बैठे हैं। कहते हैं यह प्रतिमा नेपाल से यहां लाई गई थी। उज्जैन के अलावा दुनिया में कहीं भी ऐसी प्रतिमा नहीं है।"


पूरी दुनिया में यह एकमात्र ऐसा मंदिर है, जिसमें विष्णु भगवान की जगह भगवान भोलेनाथ सर्प शय्या पर विराजमान हैं। मंदिर में स्थापित प्राचीन मूर्ति में शिवजी, गणेशजी और मां पार्वती के साथ दशमुखी सर्प शय्या पर विराजित हैं। शिवशंभु के गले और भुजाओं में भुजंग लिपटे हुए हैं।


सर्पराज तक्षक ने शिवशंकर को मनाने के लिए घोर तपस्या की थी। तपस्या से भोलेनाथ प्रसन्न हुए और उन्होंने सर्पों के राजा तक्षक नाग को अमरत्व का वरदान दिया। मान्यता है कि उसके बाद से तक्षक राजा ने प्रभु के सा‍‍‍न्निध्य में ही वास करना शुरू कर दिया।


लेकिन महाकाल वन में वास करने से पूर्व उनकी यही मंशा थी कि उनके एकांत में विघ्न ना हो अत: वर्षों से यही प्रथा है कि मात्र नागपंचमी के दिन ही वे दर्शन को उपलब्ध होते हैं। शेष समय उनके सम्मान में परंपरा के अनुसार मंदिर बंद रहता है। इस मंदिर में दर्शन करने के बाद व्यक्ति किसी भी तरह के सर्पदोष से मुक्त हो जाता है, इसलिए नागपंचमी के दिन खुलने वाले इस मंदिर के बाहर भक्तों की लंबी कतार लगी रहती है।


यह मंदिर काफी प्राचीन है। माना जाता है कि परमार राजा भोज ने 1050 ईस्वी के लगभग इस मंदिर का निर्माण करवाया था। इसके बाद सिं‍धिया घराने के महाराज राणोजी सिंधिया ने 1732 में महाकाल मंदिर का जीर्णोद्धार करवाया था। उस समय इस मंदिर का भी जीर्णोद्धार हुआ था। सभी की यही मनोकामना रहती है कि नागराज पर विराजे शिवशंभु की उन्हें एक झलक मिल जाए। लगभग दो लाख से ज्यादा भक्त एक ही दिन में नागदेव के दर्शन करते हैं।


नागपंचमी पर वर्ष में एक बार होने वाले भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन के लिए  रात 12 बजे मंदिर के पट खुलेंगे। नागपंचमी को रात 12 बजे मंदिर में फिर आरती होगी व मंदिर के पट पुनः बंद कर दिए जाएंगे।


नागचंद्रेश्वर मंदिर की पूजा और व्यवस्था महानिर्वाणी अखाड़े के संन्यासियों द्वारा की जाती है।


नागपंचमी पर्व पर बाबा महाकाल और भगवान नागचंद्रेश्वर के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं के लिए अलग-अलग प्रवेश की व्यवस्था की गई है। इनकी कतारें भी अलग होंगी। रात में भगवान नागचंद्रेश्वर मंदिर के पट खुलते ही श्रद्धालुओं की दर्शन की आस पूरी होगी।


नागपंचमी को दोपहर 12 बजे कलेक्टर पूजन करते है। यह सरकारी पूजा होती है। यह परंपरा रियासत काल से चली आ रही है। रात 8 बजे श्री महाकालेश्वर प्रबंध समिति द्वारा पूजन होगा।



टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इंदौर में कौन जीतेगा महापौर का चुनाव ? indore exit poll result | election result indore 2022 |

 इंदौर में कौन जीतेगा महापौर का चुनाव ? indore exit poll | election result indore 2022 | election result indore 2022 इंदौर में कौन जीतेगा महापौर का चुनाव ? indore exit poll Created By SarkariMedia

इंदौर नगर निगम चुनाव ताज़ा अपडेट । Indore Municipal Election Result 2022 Live

 *इंदौर नगर निगम चुनाव ताज़ा अपडेट* वार्ड 33 में भाजपा प्रत्याशी मनोज मिश्रा 576 वोट से आगे ।वार्ड 51 में भाजपा प्रत्याशी 700 वोट से आगे वार्ड 85 में कांग्रेस प्रत्याशी सचिन चौहान 50 वोट से आगे। वार्ड 26 में कांग्रेस के कमलेश पटेरिया 141 मतों से आगे - वार्ड 20,21,22,23 और 36 में कांग्रेस को बढ़त - वार्ड 32 में भाजपा के राजेंद्र राठौर 300 वोट से आगे - वार्ड 38 में भाजपा की ममता जोशी 224 वोट से आगे - वार्ड 23 से भाजपा प्रत्याशी 73  वार्ड 24 से भाजपा 29 मतों से आगे वार्ड 31 में भाजपा के बालमुकुंद सोनी 1200 मतों से आगे - वार्ड 66 से भाजपा की कंचन गिदवानी 900 मतों से आगे। - वार्ड 84 में भाजपा प्रत्याशी गुरजीत कौर 1100 मतों से आगे। - वार्ड 22 में कांग्रेस प्रत्याशी राजू भदौरिया 1100 मतों से आगे। - वार्ड 83 में भाजपा के कमल  लड्‌ढा आगे। - वार्ड 76 से कांग्रेस की सीमा जितेंद्र 200 मतों से आगे। - वार्ड 3 से भाजपा की शिखा दुबे ने कांग्रेस की कविता सुराणा पर बढ़त बनाई। - वार्ड 35 से भाजपा के राकेश सोलंकी आगे। - वार्ड 27 से भाजपा के मुन्नालाल यादव आगे। - वार्ड 69 से भाजपा की मीता राठौर कांग्रेस की शि

इंदौर नगर निगम चुनाव ताज़ा अपडेट । Indore Municipal Election Result 2022 Live

 इंदौर नगर निगम चुनाव ताज़ा अपडेट । Indore Municipal Election Result 2022 Live  *बिग ब्रेकिंग प्रदेश सामना* इंदौर नगर निगम चुनाव अपडेट शेख अलीम रुखसाना अनवर दस्तक अनवर क़ादरी राजू भदौरिया यशश्वी अमित पटेल  इन सभी की जीत हुई लगभग तय जल्द होगी घोषणा बड़ी खबर *विधानसभा 2 के कद्दावर नेता चन्दु शिंदे चुनाव हारे* *वार्ड क्रमांक 22 से राजू भदोरिया 1760 मतों से चुनाव जीते यशस्वी पटेल 1305 से आगे योगेंद्र मौर्य कांग्रेस से विजय वार्ड 70 भरत रघुवंशी 2000 से आगे कांग्रेस चिंटू चौकसे 1000 आगे *इंदौर महापौर प्रत्याशी पुष्यमित्र भार्गव 108000 से आगे* 8656 वोट से बबलू शर्मा जी चुनाव जीते*